दूर गांव में होनहार छात्रों को गढ़ रहा है एमडीजे

0
1028

बक्सर खबर : शहर से दूर गांव में रहने वाले छात्र अक्सर बेहतर शिक्षा से वंचित रह जाते हैं। जिले का नवानगर व केसठ प्रखंड ऐसे क्षेत्र हैं। जो जिला मुख्यालय से सर्वाधिक दूर हैं। इस क्षेत्र में सोनवर्षा बाजार में एमडीजे स्कूल खोल संस्थापकों ने गांव में प्रतिभा पैदा करने की चुनौती स्वीकार की है। पिछले आठ साल से इस सपने को साकार कर रहे स्कूल प्रबंधन की सफलता अब देखने को मिल रही है। रविवार को विद्यालय परिसर में वार्षिक समारोह मनाया गया। जिसमें शामिल छात्र-छात्राओं ने ऐसे कार्यक्रम प्रस्तुत किए। जिसे देख बड़ों शहरों में पढऩे वाले छात्र दंग रह जाएं।

 

मुख्य अतिथि के साथ विद्यालय के निदेशक नंद कुमार सिंह

विधायक ने किया उद्घाटन
बक्सर : कार्यक्रम का शुभारंभ जगदीशपुर के विधायक रामविशुन सिंह उर्फ लोहिया व विद्यालय के निदेशक नंद कुमार सिंह ने संयुक्त रुप से किया। विधायक ने कहा यह विद्यालय छात्रों का भविष्य सवार रहा है। निदेशक नंद कुमार सिंह ने अपने आलेख में कहा चुनौतियों से किसी को घबराना नहीं चाहिए। समारोह में बतौर अतिथि पहुंचे विधायक मो. नवाज आलम, सच्चिदानंद सहाय पूर्व प्राचार्य जैन कालेज आरा, राणा प्रताप सिंह लोक अभियोजक आरा आदि को सम्मानित किया गया।

दहेज प्रथा पर लोक नाटक करते छात्र

बच्चों ने स्वच्छता से लेकर संसद तक को दी सीख
बक्सर : विद्यालय के छात्र-छात्राओं ने शिव वंदना और देवी गीत से अपने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस बीच कवी सम्मेलन, लेकर स्वच्छता और संसद में राजनेताओं के गिरते आचरण व बेवजह बहस को मुद्दा बनाया जा रहा है। इतना ही नहीं देश के लोग अपनी संस्कृति भुलते जा रहे हैं। इस पर भी छात्रों ने करारा प्रहार किया। कार्यक्रम में दीक्षा कुमारी, नीता, विनय बिहारी, गुन-गुन राज, लक्ष्मी, प्रिया समेत तीन दर्जन छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया।

छठ महापर्व का महत्व बताती छात्राएं

मुन्ना कुमार व रेखा यादव ने जमाया रंग
बक्सर : एमडीजे स्कूल में जब भी कुछ खास कार्यक्रम होता है। विद्यालय के शिक्षक मुन्ना कुमार व उप प्राचार्य रेखा यादव की सक्रियता देखते बनती है। इन दोनों ने संयुक्त रुप से घंटो चलने वाले कार्यक्रम में रंग जमाए रखा। संचालन का दायित्व निभा रहे दोनों शिक्षकों ने बच्चों में ऐसा उत्साह भर दिया कि हर छात्र ने अपने बेहतर प्रदर्शन को लोगों के सामने रखा। खेल मैदान में बने मंच के सामने हजारों की संख्या में छात्र व उनके अभिभावक उपस्थित थे। जिसे देखने से किसी मेला सा नजारा प्रतीत हो रहा था। मौके पर मानसी सिंह, राजेश्वरी व वीर बहादुर सिंह समेत विद्यालय परिवार के सभी शिक्षक उपस्थित थे।

Comment