बक्सर खबर : दरोगा की नौकरी करने वाले की जान पर खतरा आ गया है। आफत ऐसे वक्त में आई है जब वे सेवानिवृत होने ही वाले हैं। मुफस्सिल थाना क्षेत्र के तुर्क चकियां गांव निवासी उक्त दरोगा को धमकी देने वालों ने घर के बगल में  पोस्टर साट दिया है। सिर्फ उन्हें ही नहीं पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी है। नतीजा पुलिस वाला होने के बावजूद भी दरोगा नंदू यादव दहशत जदा हैं। उन्होंने इसकी शिकायत मुफस्सिल में लिखित रुप से दी है। बक्सर खबर को फोन कर उक्त दरोगा नंदू यादव ने कहा मैं अब सेवा निवृत होने वाला हूं। इस लिए गृह जिले में तैनाती हुई है। लेकिन यहां धमकी मिलने लगी।

उन्होंने बताया गांव में एक गुमटी नुमा दुकान है। उसी पर शनिवार की सुबह गांव वालों ने पोस्टर सटा देखा। हम भी वहां पहुंचे जिस पर लिखा था। नंदू यादव, रामजनम यादव, रविन्द्र यादव, राजेन्द्र यादव का नाम दिया था। चौकाने वाली बात यह है कि इन चार में दो चचेरे भाई हैं। चारो ही पुलिस की नौकरी में हैं। एक दूसरा भाई भी भभुआ में दरोगा के पद पर तैनात है। ऐसे परिवार से किसकी अदावत हो सकती है। यह पूछने पर नंदू यादव ने कहा मेरे दो बेटे हैं जो सेना में हैं। इसी वर्ष अप्रैल में एक की शादी थी। उस दिन कुछ अपराधी समारोह के दौरान आ धमके थे। उनमें एक गणेश यादव था। जिसने कोर्ट में कमलेश यादव की हत्या की थी। ग्रामीणों ने उनमें से तीन को असलहे समेत दबोच कर पुलिस के हवाले कर दिया था। हो सकता है उन्हीं में से किसी ने अदावत वश ऐसा किया हो। हालाकि इसकी सूचना मैंने पुलिस और सिआइडी दोनों को दे दी है।