बक्सर खबर : इसे कहते हैं पुलिस की हनक। जब एसपी ही स्वयं केस ही मानिटरिंग करे तो मातहत चाह कर भी किसी को लिफ्ट देने की हिम्मत नहीं जुटा पाते। चुरामनपुर पैक्स अध्यक्ष रामाशंकर पांडेय उर्फ झमन पांडेय की हत्या में दो नामजद अभियुक्तों ने शुक्रवार को आत्मसमर्पण कर दिया। बढते दबाव के कारण ऐसा करना उनकी मजबूरी हो गयी थी। पुलिस के अनुसार शिवजी पांडेय और उनके भतिजे शेखर उर्फ सिट्टू पांडेय ने न्यायालय में गुपचुप तरीके से अपने को उपस्थित किया। जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। सूचना है कि रामोबरिया के लटटू पांडेय पहले ही पुलिस के सामने उपस्थित हो चुके हैं। अब इस मामले में गोली मारने वाले छोटू मिश्रा और धनश्याम पांडेय ही फरार हैं। कुल पांच लोग इस हत्या में नामजद किए गए थे। पुलिस कप्तान उपेन्द्र शर्मा ने इन दोनों की तलाश में अपनी टीम को लगा रखा है। इसमें छोटू अहम कड़ी है। जो पूरे मामले का उदभेदन करेगा। वैसे इन दोनों को भी पूछताछ के लिए  रिमांड पर लिया जाएगा। यह बात कप्‍तान ने बतायी।