जगतगुरु की उपाधी से नवाजे गए तीन आचार्य

0
826

बक्सर खबर : देश के तीन महान कथा वाचक आचार्य रत्नेश जी, आचार्य मारुति किंकर जी व आचार्य पुंडरीक शास्त्री जी को जगतगुरु की उपाधी से अलंकृत किया गया है। पटना से सटे मनेर में चल रहे लक्ष्मीनारायण यज्ञ की पूर्णहुति की मौके पर यह उपाधी राष्ट्र के महान सन्यासी संत पूज्य जीयर स्वामी जी ने इन्हें प्रदान की। मानव कल्याण के निमित विश्व विख्यात वैष्णव धर्म के इन अनुयायियों को स्वामी जी ने परम ज्ञानी बताया। भगवत भजन करने के साथ वैष्णव धर्म के प्रचार प्रसार की जिम्मेवारी भी अब इनके कंधो पर होगी। इन मापुरुषों को हजारों की भीड़ के सामने स्वामी जी ने जिम्मेवारी सौंपते हुए रामानुज संप्रदाय की विशेषता व उदे्श्य की चर्चा की। इस पावन मौके पर ब्रह्मपुर पीठाधीश्वर जगत गुरु रामानुजाचार्य उद्धव प्रपन्नाचार्य जी, ज.गु.रा. त्रिदण्डी देव समाधी स्थल बक्सर के महंत अयोध्यानाथ स्वामी जी भी उपस्थित रहे।

क्रमश- जगुरा मारुति किंकर जी, जगुरा रत्नेश जी, जगुरा पुंडरीक शास्त्री जी ( दांए से बाएं)
क्रमश- जगुरा मारुति किंकर जी, जगुरा रत्नेश जी, जगुरा पुंडरीक शास्त्री जी ( दांए से बाएं)