बक्सर खबर : बक्सर-चौसा मुख्य मार्ग पर गंगा पंप के पास हुआ हादसा दिल दहला देने वाला रहा। सोमवार को दुर्घटना सुबह साढे नौ बजे के लगभग चौसा-बक्सर मार्ग पर हुई। तीन युवक बाइक पर सवार हो बक्सर की तरफ जा रहे थे। शायद यह उनकी पहली गलती थी। बाइक चला रहे युवक सुनील ने हेलमेट पहन रखा था। वह जैसे ही गंगा पंप के पास पहुंचा। वहां रौंग साइड में पहले से कार खड़ी थी। उससे बचते हुए उसी रफ्तार में युवक ने बाइक आगे ले जाने चाही। इतने में सामने से ट्रक आता दिखाई दिया। बाइक को उसने जोरदार ब्रेक मारा। तीनों सड़क पर जा गिरे।

चालक सुनील उसकी चपेट में आ गया। हेलमेट पहनने के बावजूद इसका सर ट्रक के पिछले पहिए के नीचे आ गया। हेलमेट निकला भी नहीं और युवक का सर उसी में कुचल गया। ट्रक को पलटने से चालक ने बचा लिया। यह सबकुछ महज 15 से 20 सेकेंड में हो गया। ट्रक का चालक गाड़ी छोड़ भागा और वहां से गुजर रही बस में सवार हो गया। वहीं खलासी पास में स्थित कब्रगाह की दीवार फांद भागने में सफल रहा।

घटना स्थत पर यूं खडा था ट्रक

कुछ देर तक तो यूपी नंबर ट्रक वहां सुरक्षित खड़ा रहा। पुलिस थोड़ा लेट पहुंची। इसी दौरान कुछ असामाजिक लोगों ने ट्रक में आग लगा दी। इस बीच पुलिस भी पहुंच गई। आग पर काबू पा लिया गया। चालक सुनील की मौत हो चुकी थी। घायल सुबाष राम ग्राम देवढिय़ां और मकरध्वज राम ग्राम रौनी को सदर अस्पताल ले जाया गया। जहां मकरध्वज से सर में गहरी चोट होने की शिकायत की। उसे वाराणसी रेफर कर दिया। यह युवक बाइक पर सबसे पीछे बैठा था।

घटना स्थल पर पडा युवक का शव

सूचना के अनुसार मकरध्वज मणिया हाई स्कूल में कलर्क की नौकरी करते हैं। मौके पर मौजूद लोगों के अनुसार सबकुछ इतना अचानक हुआ कि किसी को कुछ समझने का मौका नहीं मिला। क्योंकि बाइक और ट्रक दोनों ी गति तेज थी। पल भर में एक परिवार का चिराग बुझ गया।
कब और कैसे हुआ हादसा जानने के लिए क्लिक करें

विज्ञापन