बक्सर खबर : भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी दिशा निर्देश में इस बात की मनाही नहीं है। कोई भी खाता धारक अपने खाते में सिर्फ एक बार ही रुपये जमा करेगा। पिछले दो दिनों से उहापोह की स्थिति बनी हुयी है। एक बार खाते में आपने रुपये जमा कर दिए। तो अगली बार कैसे रकम जमा होगी। बैंक वाले यह सवाल करेंगे। शेष रुपये कहां से आए। जब आपको पुराने नोट नौ नवम्बर से नहीं लेने थे। तो बार-बार आप रुपये कहां से ला रहे हैं? यह सवाल आम धारणा है। कोई भी बैंक खाते में रुपये जमा करने से किसी को मना नहीं कर सकता। इस प्रश्न को लेकर कई पाठकों के फोन बक्सर खबर तक आए। गुरुवार की खबर में हमने लिखा था। एक खाते में जमा हो सकते हैं कई मर्तबा रुपये। बावजूद इसके पाठकों का संशय समाप्त नहीं हुआ है। खबर लिखने से पहले बक्सर खबर ने जिले के लीड बैंक मैनेजर जयंत चक्रवर्ती, मुख्य डाकघर के डाकपाल महावीर उपाध्याय से बात की। उन्होंने कहां ऐसी कोई मनाही नहीं है। एसबीआई मुख्य शाखा के प्रबंधक से भी बात की गयी। वे अवकाश पर चल रहे हैं। उनकी जगह स्टेट बैंक के दूसरे पदाधिकारी ने कहा जिस खाते में केवाइसी है, पैन कार्ड का नंबर दर्ज है। वह अपनी मर्जी के अनुसार रुपये जमा कर सकता है।

बैंक भेज रहे हैं मैसेज
बक्सर : जिन खाता धारकों का मोबाइल नंबर बैंक में पूर्व से जमा है। उनको बैंक वाले मैसेज भेज जानकारी दे रहे हैं। पांच सौ और हजार रुपये के नोट आप आसानी से जमा कर सकते हैं। इसकी कोई सीमा नहीं है।

संशय पर हुई शाखा प्रबंधक से बात
बक्सर : रुपये जमा करने को लेकर व्याप्त संशय के बीच भारतीय स्टेट बैंक सरेंजा के शाखा प्रबंधक द्विगविजय नारायण से सवाल किए गए।
प्र. सेविंग एकाउंट में रुपये जमा करने की क्या लिमिट है?
प्रबंधक- कोई लिमिट नहीं है। हां इस बात का ख्याल रखना है कि खाते का केवाइसी हुआ हो।
प्र. -अगर किसी का लोन एकाउंट हो। उसने पांच लाख रुपये उसने निकाले हों। वह राशि अब वह वापस करना चाहता हो। ऐसे में क्या दो-चार टर्म में पुराने नोट वह अपने खाते में जमा कर सकता है?
उत्तर- क्यों नहीं, खाता लोन का हो, सीसी हो, करेंट हो, ग्राहक अपने रुपये सुविधा के अनुसार जमा कर सकता है। इसकी मनाही नहीं है।
प्रश्न- बार-बार जमा करने से कोई परेशानी?
उत्तर – इससे बैंक को कोई परेशानी नहीं। हमारा संस्थान रुपये के लेनदेन का है। टैक्स से जुड़ा विभाग हमारा नहीं है। अगर राशि जमा करने वाले के पास पर्याप्त कारण हैं तो वह रुपये जमा करे। इसमें परेशानी कैसी।
प्रश्न- ग्राहकों के लिए कुछ सलाह ?
उत्तर – अगर आप सेविंग एकाउंट धारक हैं। तो कोशिश करें। रुपये एक बार में जमा हो। क्योंकि सरकार ने पुराने नोट को प्रचलन से बाहर कर दिया है। ऐसे में बार-बार रुपये जमा करना कारण बन सकता है। इस लिए बेहतर यही होगा। जो राशि जमा करनी है। उसे एक बार में जमा करें। यह सुविधा जनक होगा। अगर आप दोबारा जमा करते हैं तो कोई आपको रोकेगा नहीं।

add
add